Sapne Jo Sone Na Den

Complimentary Offer

  • Pay via readwhere wallet and get upto 40% extra credits on wallet recharge.

Sapne Jo Sone Na Den

  • सपने जो सोने न दें
  • Price : 150.00
  • Published on Dec 8, 2015
  • Diamond Pocket Books
  • Language - Hindi
This is an e-magazine. Download App & Read offline on any device.

सपने देखना अच्छी बात है, लेकिन सपनों को पूरा करने के लिए नींद गवानी पड़ती है। समस्याएं, बाधाएं और अभाव किस के जीवन में नहीं होता। कुछ लोग बने बनाए रास्तों पर चलते हुए भी भयभीत होते हैं, तो कुछ लोग अपने लिए खुद रास्ता तैयार करते हैं। कुछ अलग करने की जिजीविषा ही समस्याओं से लड़ने और नये रास्ते बनाने का साहस पैदा करती है, यही साहस नई सोच को जन्म देती है। जिसने समस्याओं, बाधाओं और अभावों से लड़ना सीख लिया, उसके लिए हर दिशा में सफलताओं के द्वार खुले रहते हैं। बस आपकी आन्तरिक शक्ति और दृढ़ इच्छा प्रबल होनी चाहिए। डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम ने अपने जीवन प्रबंधन, कृत्यों और खास कार्यशैली से एक साधारण से परिवार की दहलीज से देश के सर्वोच्च पद तक का सफर तय करके लोकप्रियता हासिल की। उन्हीं के जीवन प्रबन्धन से प्रेरित होकर डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ द्वारा उनके सुविचारों और संदेशों पर आधारित यह पुस्तक खासकर युवाओं और उन लोगों के लिए लिखी गयी है, जिन्हें अपने सपने साकार करने के लिए बाधाओं और कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। इससे पूर्व डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ द्वारा लिखित पुस्तकें ‘सफ़लता के अचूक मंत्र’ तथा ‘भाग्य पर नहीं परिश्रम पर विश्वास करें’ पाठकों में अत्यन्त लोकप्रिय हुई हैं। इसी श्रृंखला की यह पुस्तक पढ़कर आप निश्चित रूप से ऊर्जा से भर उठेंगे।