Naripana
Naripana

Naripana

  • नारीपना
  • Price : Free
  • Published on Mar 25, 2016
  • Freelance Talents
  • Language - Hindi
This is an e-magazine. Download App & Read offline on any device.

नमस्ते! इन कहानी और कविताओं में नारी किरदारों पर कुछ प्रयोग किये हैं। कहीं वह सकारात्मक है, तो कहीं बिल्कुल गलत पर ये सभी स्त्रियां वर्तमान को वर्तमान में जीती हैं, जो तुलना में पुरुषों में कम देखा है। नारी के सभी रूपों को स्वीकार करना समाज के लिए ज़रूरी है........