logo

Get Latest Updates

Stay updated with our instant notification.

logo
logo
account_circle Login
ज़िक्र
ज़िक्र

ज़िक्र

By: Lotus of Saraswati
45.00

Single Issue

45.00

Single Issue

  • Pay via readwhere wallet and get upto 40% extra credits on wallet recharge.
  • भाग 1: नीलम
  • Price : 45.00
  • Lotus of Saraswati
  • Language - Hindi
  • Published daily

About this issue

"ये इश्क नहीं आसान, बस इतना समझ लीजिए कि एक आग का दरिया है और डूब के जाना है" गौरव माथुर ने अपनी ज़िन्दगी अपनी ही शर्तों पर जी है । मोहब्बत की ताक़त से अनजान उसकी मुलाकात होती है बेनज़ीर खान से । बेनज़ीर खान, पेशे से गायिका, लेकिन निजी तौर पर एक तन्हा अकेली इन्सान जिसे इस दुनिया से कोई मतलब नहीं । उसके मन में दुख और नफरत के सिवा कुछ नहीं । जब दोनों मिलते हैं तब गौरव को एहसास होता है कि उसकी ज़िन्दगी के उलझे हुए पन्ने अब इश्क की आँधी ही सुलझा सकती है । बेनज़ीर के इश्क की आँधी । लेकिन बेनज़ीर को पाने का एक ही रास्ता है.....

About ज़िक्र

ज़िक्र एक सूफ़ी शब्द है और इसका अर्थ होता है याद करना। ये ड्रामा-थ्रिलर एक मल्टी वोल्यूम कहानी है। ये कहानी है एक ऐसे शख़्स की जो अपने प्यार को पाने के लिए एक ऐसे रास्ते पर चला जाता है जहाँ कदम कदम पर उसे नए दुश्मन, नई चुनौतियां मिलते हैं।