UDAY SARVODAYA
UDAY SARVODAYA

UDAY SARVODAYA

This is an e-magazine. Download App & Read offline on any device.

एक आधी आबादी का दूसरी आधी आबादी के लिए जो सवाल कब्र में दफ्न थे, वो आज बाहर आ रहे हैं. जो आवाजें वक्त की गर्द के नीचे दब गई थीं या दबा दी गई थीं, वो अब मुखर हो रही हैं एक अभियान के जरिए...मी टू के जरिए. पूरी दुनिया में हंगामा मचाने के बाद यह अभियान अब भारत में भी जोर-शोर से चल रहा है. इसी माहौल की पड़ताल करती 'उदय सर्वोदया' की आवरण कथा.

समाचार पत्र-पत्रिकाओं (Paper-Magazine) की भीड़ से अलग बहुजन हित व सर्वोदय की आवाज़ उठाने की एक पहल.

Previous Issues